ADV

शारीरिक शिक्षकों को भी प्रधानाध्यापक में प्रोन्नति मिले-प्रो.नवल यादव

शारीरिक शिक्षकों का एक शिष्टमंडल अपनी विभिन्न मांगों यथा प्रधानाध्यापक में प्रोन्नति एवं माध्यमिक विद्यालयों में शारीरिक शिक्षा को एक सैद्धान्तिक विषय के रूप में शामिल करने से संबंधित विषयों को लेकर माननीय सदस्य,बिहार विधान परिषद(पटना शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र) -सह- विधान परिषद के उपनेता(NDA) प्रो.नवल किशोर यादव से मुलाकात किया। शिष्टमंडल ने बताया कि आज के संदर्भ में शारीरिक शिक्षा का महत्व और बढ़ गया है। बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए भी शारीरिक शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है। विद्यालय खेलकूद का आधार स्तंभ है। जहाँ से खिलाड़ी पहली सीढ़ी की शुरुआत करता है। इसलिए शारीरिक शिक्षा को एक सैद्धान्तिक विषय के रूप में शामिल करने की आवश्यकता है। 

शिक्षा विभाग के द्वारा 18 अगस्त को उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पदों पर प्रतियोगिता परीक्षा के माध्यम से शत-प्रतिशत नियुक्ति का प्रबधान किया गया है जिसमें एम.ए., बीपीएड और डीपीएड ( शारीरिक प्रशिक्षित स्नातकोत्तर शिक्षकों ) को शामिल करने से वंचित कर दिया गया है। जबकि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के एस. एल.पी. अपील नम्बर-1247/13एवं पटना उच्च न्यायालय के सी.डब्ल्यू. जे.सी.-1820/2018 में एम.ए.,बीएड व बीपीएड/डीपीएड को समरूप माना गया है और शारीरिक शिक्षकों के साथ भेदभाव करने से मना किया गया है। 

माननीय विधान पार्षद महोदय द्वारा शिष्टमंडल को आश्वस्त किया गया कि आपकी मांगों के संदर्भ में अतिशीघ्र माननीय शिक्षा मंत्री व प्रधान सचिव से वार्ता कर रास्ता निकालने का भरपूर प्रयास करूंगा। 

शारीरिक शिक्षकों के शिष्टमंडल में मुख्यरूप से गौरी शंकर,शिव नारायण पाल,जयनंदन यादव,राजीव रंजन,शिव शंकर पाल,हीरा लाल पांडेय,सुनील कुमार,पंकज कुमार,चंदन कुमार,मनोज कुमार शामिल थे।


Post a Comment

0 Comments