ADV

लॉर्ड्स के लॉर्ड बने केएल राहुल, एंडरसन ने एक और उपलब्धि हासिल कर रचा इतिहास

भारत के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने इंग्लैड के खिलाफ दुसरे टेस्ट के पहले दिन शतक बना कर भारत को मजबुत स्थिति मे पहुंचा दिया। केएल राहुल ने अपना छठा टेस्ट शतक बनाया। पिछले मैच मे शतक से चुकने वाले केएल राहुल ने इस बार कोई गलती नही किया और दिन का खेल खत्म होने तक केएल राहुल 127 रन बनाकर नाबाद रहे। राहुल के अलावा रोहित शर्मा ने 83 रनों की शानदार पारी खेली। रोहित शर्मा भले ही शतक से चुक गए हो लेकिन उन्होने दिखा दिया कि इंग्लैड मे किस तरह से बल्लेबाजी की जाती है।


केएल राहुल ने इससे पहले टेस्ट शतक 2018 मे जड़ा था। राहुल ने सितंबर मे इंग्लैड के खिलाफ ओवल मे यह शतक बनाया था। दो साल बाद राहुल को इस सीरीज मे खेलने का मौका मिला और मौके पर चौका भी लगा दिया। इस पारी के साथ राहुल ने कुछ समय तक सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी जगह तो जरूर पक्की कर ली है। राहुल ने पिछले मैच में अर्धशतकीय पारी खेलते हुए 84 रन बनाए थे और इस मैच में शतक बनाकर अपनी बल्लेबाजी का कौशल दिखाया। उन्होंने यह दिखा दिया कि परिस्थितियां चाहे कोई भी हो वो डटकर मुकाबला करना जानते है इसलिए वो प्रमुख बल्लेबाजों में शुमार है। 
राहुल और रोहित ने मिलकर पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की। दोनों ने पहले विकेट के लिए 126 रन जोड़े। इससे पहले 2007 में नॉटिंघम में वसीम जाफर और दिनेश कार्तिक ने मिलकर 147 रनों की शतकीय साझेदारी की थी। यह शतकीय साझेदारी इंग्लैंड में भारत की पहली शतकीय साझेदारी भी थी। 

भारत के तरफ चेतेश्वर पुजारा ने फिर एक बार निराश किया। पहले मैच की तरह ही वो दूसरे मैच में भी बाहर जाती गेंदों से छेड़खानी कड़ते हुए इस बार भी अपना विकेट गंवाया। पिछले मैच में खाता भी नही खोल सके कोहली ने इस मैच में अपनी पारी का शुरुआत संभलकर किया। कोहली ने कुछ अच्छे अच्छे शॉट्स भी लगाए पर बाहर के गेंद से छेड़खानी करते हुए उन्होंने अपना विकेट गंवाया। कोहली ने 42 और पुजारा ने 9 रन बनाए। उसके बाद अजिंक्य रहाणे ने भी थोड़ा संभलकर खेलते हुए 22 गेंदों पर एक बनाकर राहुल के साथ नाबाद लौटे। भारत ने 3 विकेट खोकर 276 रन बनाए। 

इंग्लैंड के पहले विकेट के जरूर बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ी, लेकिन एंडरसन ने रोहित शर्मा का विकेट लेकर भारत को पहला झटका दिया। उसके कुछ देर बाद ही एंडरसन ने पुजारा को भी चलता किया। दिन का खेल खत्म होने से पांच ओवर पहले रॉबिन्सन ने विराट कोहली का विकेट लेकर इंग्लैंड को बड़ी सफलता दिलाई। 
इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन टेस्ट क्रिकेट में 35 हजार से ज्यादा गेंद करने वाले दुनिया के पहले तेज गेंदबाज और कुल चौथे गेंदबाज बन गए हैं। एंडरसन भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के दौरान इस मुकाम पर पहुंचे।

एंडरसन से पहले तीन स्पिनरों श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन (44,039 गेंदें), भारत के अनिल कुंबले (40,850) और ऑस्ट्रेलिया के शेन वार्न (40,705) ने यह उपलब्धि हासिल की थी। तेज गेंदबाजों में उनके बाद वेस्टइंडीज के कर्टनी वाल्श (30,019 गेंदें), इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड (29,863) और ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैकग्रा (29,248) का नंबर आता है।

अपना 164वां टेस्ट मैच खेल रहे एंडरसन ने अभी तक 622 विकेट लिए और वह सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों में मुरलीधरन (800) और वार्न (708) के बाद तीसरे नंबर पर हैं। टेस्ट में विकेटों के हिसाब से एंडरसन सबसे सफल तेज गेंदबाज हैं। 
Admission Open 



Post a Comment

0 Comments