ADV

आईपीएल में शॉर्टलिस्ट नही किए जाने के बाद श्रीसंत ने घातक गेंदबाजी करके उत्तर प्रदेश के खिलाफ पांच विकेट चटकाए

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 14वें सीजन से पहले चेन्नई में 18 फरवरी को खिलाड़ियों की नीलामी हुई। इस साल के ऑक्शन से पहले 292 खिलाड़ियों को बीसीसीआई ने शॉर्टलिस्ट किया था, जिसमें भारत के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत (S Sreesanth) का नाम नहीं था। श्रीसंत ने इसका जवाब हाल ही में विजय हजारे ट्रॉफी में दिया है। श्रीसंत ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ शानदार गेंदबाजी कर 5 विकेट हासिल किए हैं।

15 साल बाद लिए पांच विकेट 

श्रीसंत (S Sreesanth) ने एलूर में चल रहे इलीट ग्रुप-सी के दूसरे राउंड के मुकाबले में उत्तर प्रदेश के खिलाफ धारदार गेंदबाजी करते हुए पांच खिलाड़ियों को आउट किया. श्रीसंत (S Sreesanth) की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर केरल की टीम ने उत्तर प्रदेश को 50 ओवर से पहले ही 283 रनों पर ही ढेर कर दिया. श्रीसंत (S Sreesanth) के अब इस टूर्नामेंट में दो मैचों में ही सात विकेट हो चुके हैं।


7 साल से थे बैन 

एस श्रीसंत को आईपीएल (IPL) 2013 के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था, जिसके बाद उनके ऊपर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था  हालांकि केरल हाईकोर्ट ने उस बैन को खत्म कर दिया और श्रीसंत ने 2020 में 7 साल का लंबा बैन झेलने के बाद घरेलू क्रिकेट में फिर से वापसी की। श्रीसंत ने आईपीएल (IPL) के लिए भी रजिस्टर किया था, लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें ऑक्शन के लिए शॉर्टलिस्ट नहीं किया। 

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के जरिए क्रिकेट में लौटे थे श्रीसंत

स्पॉट फिक्सिंग के चलते सात साल का बैन झेलने वाले एस श्रीसंत ने हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के जरिए क्रिकेट में वापसी की। श्रीसंत को उम्मीद थी कि वे घरेलू क्रिकेट के जरिए आईपीएल (IPL) में वापसी कर सकते थे, जिसके बाद उन्होंने सोचा था कि वे भारत में होने वाले 2023 वर्ल्ड कप में टीम का हिस्सा बन सकेंगे। हालांकि बीसीसीआई ने उनकी इस उम्मीद पर पानी फेर दिया। 


Post a Comment

0 Comments