ADV

राजेंद्र प्रसाद सिंह वीमेंस प्रीमियर लीग के सेलेक्शन ट्रायल 5 जनवरी को

पटना:- बिहार क्रिकेट संघ से मान्यता प्राप्त एसएसपीएल के तत्वावधान में जनवरी 2021 के अंतिम सप्ताह में आयोजित होने वाली बिहार में पहली बार राजेंद्र प्रसाद सिंह वीमेंस प्रीमियर लीग में भाग लेने वाली छह टीमों के गठन के लिए सेलेक्शन ट्रायल पांच जनवरी को वाईसीसी स्पोट्र्स एकेडमी (शाखा मैदान) में सुबह नौ बजे से आयोजित किया जायेगा। यह जानकारी आयोजन सचिव शिखा सोनिया ने दी।

शिखा सोनिया ने बताया कि स्व. राजेन्द्र प्रसाद सिंह बिहार के विधि जगत के लब्धप्रतिष्ठ नाम थे और उनकी ही स्मृति में इस प्रीमियर लीग का नाम रखा गया है। साथ ही उनके पुत्र राजीव सिंह जो पटना उच्च न्यायालय के लॉयर्स एसोसिएशन के महासचिव हैं जो इस लीग का मुख्य संरक्षक होंगे। राजीव सिंह ने इस लीग के सफल आयोजन की जिम्मेवारी ली है। 

आयोजन अध्यक्ष सम्राट विशाल स्वरुप ने बताया कि पटना के बाहर की जो भी लड़कियां आयेंगी, उनके ठहरने की व्यवस्था सामुदायिक भवन, सब्जी मंडी, गांधी मूर्ति, विश्ववेशरैया भवन, पुनाईचक में की गई है। पटना से बाहर के खिलाड़ियों को किसी भी हालत में चार जनवरी के रात आठ बजे तक रिपोर्ट कर देना होगा। इस लीग में सिर्फ बिहार की लड़कियां ही भाग लेंगी। 

आयोजन सचिव रुपक कुमार ने बताया कि ट्रायल की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। ट्रायल का उद्घाटन कुम्हरार विधान सभा क्षेत्र के विधायक अरुण कुमार सिन्हा और क्रिकेट प्रशासक व समाजसेवी अखिलेश कुमार सिंह करेंगे।

उन्होंने बताया कि टीमों का चयन करने के लिए चयन समिति का चेयरमैन पूर्व रणजी ट्रॉफी क्रिकेटर आशीष सिन्हा को बनाया गया है जबकि रणजी प्लेयर कुमार रजनीश, संतोष कुमार, रुपक कुमार, शाह फहद यासीन सदस्य के रूप में होंगे। ट्रायल के संयोजक तेजस्विता श्रीवास्तव उर्फ मुनमुन होंगी। 

इस ट्रायल में हिस्सा लेने को इच्छुक खिलाड़ी रेहेन दास गुप्ता (मोबाइल नंबर 9162949542) व तेजस्विता श्रीवास्तव (मुनमुन, मोबाइल नंबर-9308103971) से संपर्क कर सकते हैं। इस प्रीमियर लीग में सिर्फ बिहार की लड़कियां भाग लेंगी। ट्रायल के दिन आधार कार्ड, जन्मप्रमाण पत्र और दो फोटो साथ लेकर आना अनिवार्य है। 

आयोजन सचिव रुपक कुमार ने बताया कि जो छह टीमें बनेंगी उसके 13-13 खिलाड़ी चयनकर्ता द्वारा चुनी जायेंगी। बाकी दो खिलाड़ी फ्रेंचाइजी टीम के आर्नर अपनी मर्जी से जोड़ सकेंगे।



Post a Comment

0 Comments