ADV

राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी रूपक कुमार ने धोनी के संन्यास के बारे में कहा कि इस फैसले में धोनी जल्दबाजी कर गए


धोनी के संन्यास लेने के बाद राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी रूपक कुमार का कहना ही कि एक युग का अंत हुआ ये समय नहीं था सन्यास लेने का थोड़ा जल्दबाज़ी का फ़ैसला है, पूरे भारत क्रिकेट को काफ़ी धक्का लगा है। काफ़ी लम्बे समय के बाद एक अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज़ मिला था भारत को जिसकी कमी होगी भारतीय क्रिकेट टीम को।

Admission Open


रांची का यह राजकुमार’ हालांकि क्रिकेट के इतिहास में महानतम खिलाड़ियों में अपना नाम दर्ज करा गया है। भारत के लिये उन्होंने 350 वनडे, 90 टेस्ट और 98 टी20 मैच खेले। उन्होंने वनडे क्रिकेट में पांचवें से सातवें नंबर के बीच में बल्लेबाजी के बावजूद 50 से अधिक की औसत से 10773 रन बनाये। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 38 . 09 की औसत से 4876 रन बनाये और भारत को 27 से ज्यादा जीत दिलाई ।

भारतीय क्रिकेट में कई महान खिलाड़ी हुए और आगे भी होंगे लेकिन अपनी शर्तों पर अपने कैरियर की दिशा तय करने वाले ‘कैप्टन कूल ’ धोनी जैसा कप्तान और खिलाड़ी सदियों में एक पैदा होता है ।




Post a Comment

0 Comments