ADV

बीसीए से बर्खास्त पदाधिकारी, झूठी शान के लिए खड़ा कर रहें हैं अपनी दुकान :- योशिता पटवर्धन


अरवल:- अरवल जिला क्रिकेट संघ के नवनिर्वाचित सचिव सुश्री योशिता पटवर्धन ने एक बयान जारी कर कहा कि बीसीए से बर्खास्त पदाधिकारी के द्वारा बिहार के विभिन्न जिलों में समानांतर संगठन खड़ा करने का एक कुत्सित प्रयास किया जा रहा है। ये लोग अपनी अस्तित्व व  झूठी शान के लिए विभिन्न जिलों में अपनी दुकान खड़ा करते फिर रहे हैं।

ताकि खेल व खिलाड़ियों  सहित बीसीए की गतिविधियों को बाधित कर बीसीसीआई के पटल पर  बिहार क्रिकेट संघ की छवि को धूमिल किया जा सके। जबकि हकीकत यह है कि इन लोगों को खेल और खिलाड़ियों का भला हो ऐसी बातों से दूर-दूर तक  कोई लेना-देना नहीं, इतिहास इसका गवाह है।

क्योंकि बिहार क्रिकेट संघ से बर्खास्त सचिव व निलंबित पूर्व पदाधिकारी के दामन में दाग ही दाग लगा हुआ है और कहीं ना कहीं संघ विरोधी कार्य करने या भ्रष्टाचार में सम्मिलित पाए जाने के कारण हीं बीसीए से बाहर किए जा चुके हैं ।

Admission Open

जो लोग बीसीए में खुद  हीं नहीं हैं , वैसे लोगों के द्वारा सभी जिलों में समानांतर संस्था खड़ा कर खेल और खिलाड़ियों के बीच भ्रम पैदा करने का कुत्सित प्रयास करना घोर निंदनीय है।
अरवल जिला क्रिकेट संघ के नवनिर्वाचित सचिव सुश्री योशिता पटवर्धन ने बताया कि विदित है कि अरवल जिला क्रिकेट संघ का चुनाव 14 अगस्त 2020 को संपन्न हो चुका है। जिसमें नवनिर्वाचित कमेटी के रूप में अध्यक्ष पद पर श्री राहुल कुमार, उपाध्यक्ष पद पर श्री सूरज कुमार , सचिव पद पर सुश्री योशिता पटवर्धन , संयुक्त सचिव पद पर श्री रुपेश रंजन और कोषाध्यक्ष पद पर विकास कुमार  तथा क्लब प्रतिनिधि के रूप में ओम प्रकाश शर्मा  निर्वाचित हुए थे। जो बिहार क्रिकेट एसोसिएशन से पूरी तरह मान्यता प्राप्त अंग है और जिले में सभी क्रिकेट गतिविधियों के संचालन का एकमात्र जिम्मेवार संस्था है।

अपनी अस्तित्व की रक्षा के लिए कुचक्र रचने वाले, लोगों को दिग्भ्रमित करने वाले बीसीए से बर्खास्त लोगों द्वारा अरवल जिला क्रिकेट संघ का चुनाव 26 अगस्त 2020 को कराए जाने की सूचना पूरी तरह से एक भ्रामक अफवाह, बेबुनियाद व असंवैधानिक है। इसलिए अरवल जिला क्रिकेट संघ से जुड़े सभी खिलाड़ियों , क्लबों व अन्य पदाधिकारियों को ऐसे लोगों से सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है।




Post a Comment

0 Comments