ADV

चयनकर्ताओं ने किसके आदेश से की है बिहार एकादश टीम की घोषणा।



उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में आयोजित होने वाली लक्ष्य चैंपियंस ट्रॉफी के लिए बिहार एकादश टीम की घोषणा एक कार्यमुक्त सचिव के द्वारा या उनके आदेश से घोषित किया जाना असंवैधानिक है।

एक तरफ जहां पूर्व सचिव कई गंभीर आरोपों से घिरे हैं तथा वह जांच का सामना कर रहे हैं। एजीएम के सदन ने उन्हें जांच पूरी होने तक कार्य से अलग रखने का निर्णय किया है वैसी स्थिति में बिहार के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को इस तरह का विवाद में घसीटना उचित नहीं है।


अगर यह टीम चयनकर्ताओं द्वारा घोषित किया गया है तो चयनकर्ताओं को बताना चाहिए कि वह किसके दिशा- निर्देश पर टीम की घोषणा किये हैं ?

बिहार क्रिकेट एसोसिएशन को आयोजक के तरफ से किसी तरह का निमंत्रण प्राप्त नहीं हुआ है और सबसे बड़ी बात यह है की बिहार के सीनियर टीम को किसी क्लब के साथ खेलने के लिए भेजने का अधिकार चयनकर्ताओं को कैसे प्राप्त हो गया ?             
 
वैसे मीडिया बंधुओं  को भी इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सचिव संजय कुमार मंटू एजीएम द्वारा जांच पूरी होने तक के लिए कार्यमुक्त कर दिए गए हैं। वैसी परिस्थिति में उनके द्वारा जारी किसी भी प्रकार की सूचना या खबर को बीसीए का अधिकृत सूचना नहीं मानना चाहिए। उन पर लगे विभिन्न आरोपों और अनैतिक रूप से उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों के संबंध में गहराई से पूछताछ करनी चाहिए।


यह जानकारी बीसीए के अध्यक्ष श्री राकेश कुमार तिवारी जी के हवाले से बीसीए के मीडिया प्रभारी कृष्ण पटेल ने यह विज्ञप्ति जारी कर दी है।       

Post a Comment

0 Comments